इसके बारे में बात करना आसान है

3 शब्दों के पतें याद रखने में एवं फोन या रेडियो पर बताने में आसान हैं। सामान्य पते की तुलना में इसे सरलता और तेज़ी से टाइप किया जा सकता है। इन्हें स्पीच रिकग्नीशन तकनीक के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिससे उन्हें वॉइस-सक्षम उपकरणों या वाहनों में सही ढंग से डालना आसान हो जाता है।

आपको हर बार सही जगह मिलती है

विश्व में प्रत्येक 3 मीटर के वर्ग को 3 शब्दों का पता दिया गया है। यह सिस्टम निश्चित है और कभी नहीं बदलेगा, इसलिए इसका उपयोग विश्वसनीय रूप से ऑफ़लाइन, डेटा कनेक्शन के बिना किया जा सकता है। प्रत्येक 3 शब्दों का पता अनूठा है, और बिल्ट-इन एरर प्रिवेन्शन उपयोगकर्ताओं को इनपुट में किसी भी गलती को पहचानने और इसे ठिक करने में सहायता करता है।

ये आपकी भाषा में है

3 शब्दों के पतें, विश्वभर में समान सरल प्रारूप में हैं और अब तक, इनका उपयोग 12 भारतीय भाषाओं सहित 50 अलग अलग भाषाओं में किया जा सकता है। इसका मलतब है कि आप हिन्दी भाषा में पते का उपयोग करके टोक्यो में घूम का अन्वेषण कर सकते हैं। 3 शब्दों के पते को किसी भी समर्थित भाषा में तुरंत स्विच किया जा सकता है और एक भाषा में देखकर इसे दूसरी भाषा में शेयर भी किया जा सकता है।

इन्हें मौजूदा तकनीक में एकीकृत करना आसान है

3 शब्दों के पतें GPS कोओर्डिनेट्स में परिवर्तित होते हैं, जिससे, ई-कॉमर्स चेकआउट और नेविगेशन ऐप से लेकर आपातकालीन कमांड और कंट्रोल सिस्टम तक, सिस्टम और प्लेटफॉर्म को सटीक जगह की जानकारी देने के लिए ह्युमन फ्रेन्डली तरीका प्राप्त होता है।

Did this answer your question?